Love Attitude Hindi Poetry | क्यों बताएँ तुमको?

क्यों बताएं तुमको?
Spread the love

Love Hindi attitude poetry, क्यों बताएँ तुमको? after breakup poetry in Hindi

“क्यों बताएँ तुमको?”

क्या हाल हमारा

क्या बेहाल हमारा

इस अलग सी दुनियाँ में

खो जाएँ या मज़े लें

क्यों बताएँ तुमको?

हम गाते हैं

या चुप हो गए

क्यों सुनाएँ तुमको?

हम खुश रहें या

शाम-ए-ग़म में

क्यों बताएँ तुमको?

तुम आज़ाद रहो इन बाहों से

फ़र्क न पड़ेगा

बाहें अब खुलती नहीं

या हल्की होकर उड़ने लगी हैं

क्यों बताएँ तुमको?

अब रोना नहीं आता

या बेवक्त ही हँस पढ़ते हैं

क्यों बताएँ तुमको?

जिसे अपना लिया

उसे छोड़ न पाते थे

अरे जाओ..!

अब अपनाएँ,

या मुड़ कर भी न देखते,

क्यों बताएँ तुमको?

-IG : @kishu_poetry


Also Read:

Miss You Hindi Poetry

Corona Virus Poetry ” Maut ki Satta”| “मौत की सत्ता” कोरोना हिन्दी कविता

Shayad Shayari

“Apna sa room”

बदनाम नहीं किया तुमको

Quotes and Status

17+ motivational inspiring quotes and status

10+ broken heart quotes in Hindi

उलझन मे खुद को कैद न कर

आज समंदर भी तन्हा है

वक़्त ही मेरा रक़ीब बन गया

Who am I poetry in Hindi

Poem about dogs “my pet Duggu” in Hindi

तुम्हारा शुक्रिया बदनाम कविता 

तुझे अपने पास पाता हूँ

sad rain poem जब बारिश हो रही थी

शायरी


Spread the love

Recommended Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *