Showing: 1 - 10 of 18 RESULTS
मेरी खामियाँ, please don't love me poetry

मेरी खामियाँ कविता | Please don’t love me poetry | पहले कुछ और था अब कुछ और हूँ

यह कविता poetry उनके लिए जो किसी से प्यार करना तो चाहते हैं पर उन्हे कह भी नहीं सकते और उनका प्रोपोसल एक्सैप्ट भी नहीं …